• Latest Post

    यूजर्स की निजी जानकारी लीक करता है यूसी ब्राउजर


    फास्ट मोबाइल वेब ब्राउजर होने का दावा करने वाला यूसी ब्राउजर आपका निजी डेटा लीक करता है। कनाडा के एक रीसर्च ग्रुप ने गुरुवार को कहा कि यूसी ब्राउजर यूजर्स का निजी सेंसिटिव डेटा दांव पर लगाता है।

    कनाडा की सिटिजन लैब ने बताया कि यूसी ब्राउजर के चाइनीज और इंग्लिश लैंग्वेज वर्जन्स को यूसीवेब Inc ने डिवेलप किया है। ये दोनों वर्जन्स थर्ड पार्टीज़ को यूजर्स की लोकेशन, सर्च डीटेल्स और मोबाइल सब्स्क्राइबर, डिवाइस नंबर्स जैसी निजी जानकारियां आसानी से दे देता है।

    लैब की एक रिपोर्ट में कहा गया, इस इन्फर्मेशन का ट्रांसमिशन यूजर्स की प्राइवेसी के लिए बड़ा खतरा है क्योंकि इससे कोई भी डेटा ट्रैफिक को ऐक्सेस कर यूजर्स और उनके डिवाइस को पहचान सकता है और उनका प्राइवेट सर्च डेटा इकट्ठा कर सकता है।

    यूसी ब्राउजर की कम्पनी अलीबाबा के प्रवक्ता बॉब क्रिस्टी ने सफाई देते हुए कहा कि अप्रैल में जब अलीबाबा ने उन्हें इस बारे में बताया था, तब इन दिक्कतों तो तत्काल ठीक कर कस्टमर्ज को ब्राउजर के अपडेट की नोटिफिकेशन दे दी गई थी।

    उन्होंने कहा 'हम सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेते हैं और हम अपने यूजर्स की सुरक्षा के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।'

    यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो आधारित सिटिजन लैब ने दावा किया है कि यूसी ब्राउजर के पास करीब 500 मिलियन रजिस्टर्ड यूजर्स हैं और यह चीन और भारत का सबसे पॉप्युलर वेब ब्राउजर है।

    सिटिजन लैब ने बताया कि ऐप का चाइनीज वर्जन ज्यादा खतरनाक है। इसे इन्स्टॉल करने और ओपन करने पर काफी बड़ी संख्या में लोग आपकी लोकेशन और दूसरी जानकारी हासिल कर लेते हैं।

    लैब के मुताबिक, 'कई नेटवर्क ऑरेटर्स को बड़ी मात्रा में फाइन ग्रेन्ड डेटा पॉइंट्स लीक कर यूसी ब्राउजर यूजर्स के लिए रिस्क बढ़ा रहा है। ऐसे डेटा का इस्तेमाल उनके खिलाफ अधिकारियों, असामाजिक तत्वों या दूसरी थर्ड पार्टीज़ द्वारा किया जा सकता है।'

    जून 2014 में अलीबाबा ने UCWeb को अक्वायर कर लिया था जो कि चीनी इंटरनेट हिस्ट्री में सबसे बड़ा मर्जर था।

    No comments