• Latest Post

    नंबर प्लेट में छुपे होते है गाड़ी से जुड़े राज, जानिए

     क्या कभी आपने सड़क पर चलती हुई गाड़ियों के फ्रंट और बैक साइड पर लगी नंबर प्लेट पर गौर किया है। आपने देखा होगा कि कुछ गाड़ियों की नंबर प्लेट पीले रंग की, कुछ की नीले रंग की तो कुछ सफेद रंग की होती है। इतना ही नहीं इन नंबर प्लेटों पर छपे नंबर भी अलग अलग तरह के होते हैं। नंबरों में होने वाली ये वैरायटी सिर्फ डिजायन मात्र तक ही सीमित नहीं होती इसके नंबरों के आकार और डिजायन काफी कुछ कहते हैं। अगर आपने अबतक गौर नहीं किया तो भी परेशान मत होइए, हम अपनी खबर में आपको नंबर प्लेट का पूरा गणित समझाने जा रहे हैं। पढ़िए क्या कहता है नंबर प्लेट का रंग और नंबरों का आकार।

    आइए जानते है सीरीज का मतलब
    पहले दो लेटर उस राज्य के बारे में होते जहां से गाड़ी को रजिस्टर कराया गया है। उससे अगले दो डिजिट डिस्ट्रिक्ट के बारे में बताते हैं। और जो बाकी 4 डिजिट है वो यूनीक नंबर होते हैं, जो सिर्फ आपकी गाड़ी के लिए होते हैं। यह रैंडमली चुने जाते हैं जो किसी खास सीरीज के तहत निकालते हैं।

    नंबर प्लेट में छुपे होते है गाड़ी से जुड़े राज, जानिए

    नंबर प्लेट पर तीन तरह के रंग होते है
    1. जिस गाड़ी पर सफेद प्लेट पर काले रंग से लिखा होता है वह आम गाड़ियां होती है जैसे की आपकी गाड़ी।
    2. जिस गाड़ी पर पीले प्लेट पर काले रंग से नंबर लिखा होता है वह कॉमर्शियल व्हीकल्स होते हैं।   
    3. जिस गाड़ी पर नीले प्लेट पर सफेद रंग से नंबर लिखा होता है वह वाणिज्य दूतावास से जुड़ी होती है।

    क्या आपने कभी यह गौर किया है कि राष्ट्रपति और भारत के राज्यों के गवर्नर की गाड़ी की नंबर प्लेट पर कोई भी नंबर नहीं होता है। इन गाड़ियों की प्लेट पर अशोक चिह्न होता है।

    लेटर कोड
    DL का मतलब दिल्ली, MP का मतलब मध्य प्रदेश, UP का उत्तर प्रदेश, HR का मतलब हरयाणा आदि। यह बताता है कि गाड़ी किस राज्य से है। आम तौर पर किसी और राज्य से गाड़ी लेकर आने में ऑक्ट्रॉय ड्यूटी ज्यादा देनी होती है।

    आप एक ही नंबर की कई गाड़ियां भी रख सकते हैं इसके लिए किसी और राज्स से खरीदी गई गाड़ी को RTO में जाकर अपनी पसंद के रजिस्ट्रेशन नंबर के लिए एप्लिकेशन देनी होगी। इस तरह से आपकी गाड़ी की नंबर प्लेट में सिर्फ स्टेट कोड बदलेगा। अपनी पसंद का नंबर लेने के लिए आपको थोड़ी ज्यादा खीस अदा करनी होगी।

    Temporary Number

    Temporary Number एक स्टिकर की तरह होता है जो एक महीने के लिए मिलता है। यह नंहर गाड़ी बेचने वाला डीलर देता है। इस एक महीने में गाड़ी के मालिक को RTO में अपनी गाड़ी रजिस्टर करवानी पड़ती है।

    No comments