• Latest Post

    आपकी जासूसी कर रहा है विंडोज 10





    माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के आखिरी वर्जन विंडोज 10 से सभी खुश नजर आ रहे हैं। इसमें जो नए फीचर्स दिए गए हैं उनसे ऐसा लग रहा है कि उसने विंडोज 7 से भी बेहतर ओएस दिया है और विंडोज 8 से यूजर्स के हाथ लगी निराशा को भी दूर कर दिया है। लेकिन! क्या आप जानते हैं कि विंडोज 10 आपकी हर हरकत पर नजर रख रहा है? यानी आपकी जासूसी कर रहा है?
    बीजीआर पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक, माइक्रोसॉफ्ट के 12,000 शब्दों का सर्विस अग्रीमेंट पढ़िए। उसमें लिखा है: अब हम आपके पर्सनल डेटा को ऐक्सेस करेंगे, उसका खुलासा करेंगे और उसे प्रिजर्व करेंगे। इसमें आपका कॉन्टेंट (ईमेल का कॉन्टेंट, दूसरी प्राइवेट बातचीत या फाइल्स भी शामिल होंगे जो प्राइवेट फोल्डर्स में मौजूद हैं। हम ऐसा तब करेंगे जब हमें लगेगा कि:
    1. यह कानून का पालन करने या किसी कानूनी प्रक्रिया पर प्रतिक्रिया देने के लिए जरूरी है




    2. हमारे उपभोक्ताओं की सुरक्षा के लिए जरूरी है
    3. हमारी सुरक्षा सेवाओं को ऑपरेट करने के लिए डरूरी है
    4. माइक्रोसॉफ्ट के अधिकार या सम्पत्ति के लिए जरूरी है
    हालांकि, अगर हमें ऐसी कोई सूचना मिलती है कि हमारी सेवाओं का इस्तेमाल चुराकर किया जा रहा है, हम खुद कस्टमर के निजी कॉन्टेंट की जांच नहीं करेंगे, बल्कि कानून का सहारा लेंगे। लेकिन राहत की बात यह है कि आप उन सभी फीचर्स को डिस्कन्टिन्यू कर सकते हैं जो आपको आपकी निजता में सेंध लगाते हुए नजर आते हैं।
    रॉक पेपर शॉटगन ने 4 पॉइन्ट्स में बताया है जिससे आप अपने पर्सनल डेटा पर कंट्रोल फिर से हासिल कर पाएंगे:




    1. सेटिंग्स पर जाएं और प्राइवेसी पर क्लिक करें। यहां, आपको 13 अलग-अलग स्क्रीन नजर आएंगी। इनमें से कई महत्वपूर्ण सेटिंग्स जनरल टैब में पाई जा सकती हैं। उदाहरण के लिए आप यह अजस्ट करना चाहेंगे कि आपके सिस्टम का हर ऐप किस तरह का डेटा ऐक्सेस कर सकता है।
    2. यूजर्स को कोर्टाना से बचने की सलाह है। यह वॉइस असिस्टेंट निश्चित रूप से आपके लिए बेस्ट फीचर है लेकिन यह आपके डेटा को भी खतरे में डाल सकता है। इससे होने वाले फायदे के चक्कर में अपना नुकसान न करवा बैठें।
    3. वेब पर जाएं और https://choice.microsoft.com/en-gb/opt-out खोलें। यहां से आप 'पर्सनलाइज्ड ऐड इन दिस ब्राउजर' और 'माइक्रोसॉफ्ट अकाउंट पर पर्सनलाइज्ड ऐड्स' को ऑफ कर दें। इससे माइक्रोसॉफ्ट का गूगल जैसा ऐड ट्रैकिंग फीचर बंद हो जाएगा।
    4. रॉक पेपर शॉटगन का आखिरी टिप है किविंडोज 10 पर से अपना पर्सनल अकाउंट हटाकर एक बिल्कुल नया अकाउंट लोकल अकाउंट खोलें। इस तरह माइक्रोसॉफ्ट के हाथ कई मशीनों में रखा आपका पूरा डेटा नहीं लग पाएगा।



    No comments