Skip to main content

फ्रिन्ज बेनिफिट टैक्स क्या है ? उसकी विशेषताएं बताये उधारण सहित | [What is FBT(Fringe Benefit Tax) ? Its importance explain with example.]





Tally Notes in Hindi 

 प्रश्न. फ्रिन्ज बेनिफिट टैक्स क्या है ? उसकी विशेषताएं बताये उधारण सहित |  [What is FBT(Fringe Benefit Tax) ? Its importance explain with example.]

 उत्तर- फ्रिन्ज बेनिफिट टैक्स, एक अतिरिक्त इनकम टैक्स के रूप में Finance Act 2005 के भाग के रूप में तैयार किया गया और 1 अप्रैल, 2005 को प्रभावी हुआ | FBT का तात्पर्य Employer द्वारा कर्मचारियों को सेवा सुविधा या लाभ प्रदान करने के लिए जो खर्च किया है या एम्प्लोई को व्यवसाय हित में क्षति पूर्ति के रूप में दिए गए विशेष अधिकार, पुरस्कार सहायता सुविधा से है| वह Fringe Benefit Tax कहलाता है | Section 115 wc के अंतर्गत FBT के मूल्य पर 30% टैक्स देय होता है |





  •  Calculation of Net Exp : 
           Net Exp= Total Exp-Amt Recovered from employees

  •  Cal. of Value of Fringe Benefit Tax= Net Exp - Eligible to calculate(गणना) of FBT Payable
           Value of FBT = XXXX

 FBT (30%) ……….
 Surcharge (10%) = ……….
 Educess (3%) ……….
 Total Tax Payable XXXX

 Eg: मान लीजिये कंपनी द्वारा कर्मचारियों के मनोरंजन के लिए 10,000 रूपए खर्च किया जाता है, जिसमे से 5,000 रूपए कर्मचारियों से वसूल लिया जाता है | अर्थात FBT Payable की गणना निम्नानुसार होगी – 



        a. Net Exp = 10,000-5,000=5,000
        b. Value of FBT = 5,000-20%1,000
        c. Cal. of FBT Payable:

 Value of FBT = 1,000
 @30%(1,000) = 300
 (+) Edu.cess 3% 6.6
 (+) Surcharge@ 10%300 30
 FBT Payable 336.60

 टैली में Accounts with Inventory दोनों प्रकार की company के लिए FBT का प्रयोग किया जाता है |




  •  टैली 9 में दी गयी FBT सुविधा की निम्नलिखित विशेषताएं हैं –
  •  यह प्रयोगकर्ता के लिए सरल है | 
  • टैली 9 में सही FBT जमा करने के लिए चालान व्यवस्थापन और प्रिंटिंग की जा सकती है | 
  • टैली 9 में हमें केवल Transaction की Entry करनी होती है इसके लिए आधार पर FBT की गणना टैली स्वत: ही करती है इसकी रिपोर्ट भी तैयार करती है | 
  • टैली 9 हमें ITNS 283 चालान फॉर्म तैयार करने प्रिंट करने, और जमा की सुविधा भी प्रदान करती है |   

Comments

Popular posts from this blog

Tally सीखें हिंदी में।- Accounting क्या है, Accounting के महत्व,डेफिनेशन एवं प्रकार।

1. एकाउंटिंग क्या है ? 2. एकाउंटिंग के महत्व क्या है ? 3. एकाउंटिंग की डेफिनेसन ? 4. एकाउंटिंग के रूल्स और प्रकार  Accounting :-  एकाउंटिंग यह एक प्रोसेस है पहचान करने की, रिकॉर्डिंग, सारांश और आर्थिक जानकारी की रिपोर्टिंग की, जो निर्माताओं के लिए वित्तीय ब्यौरा देकर निर्णय लेन के लिए मददत करता है | Advantages of Accounting :- निमंलिखित एकाउंटिंग रखने से लाभ होता है - 1) एकाउंटिंग से हम किसी विशेष समय की अवधि में लाभ या हानि हुई है यह समझ सकते है। 2) हम कारोबार के निम्न वित्तीय स्थिति को समझ सकते है अ) व्यवसाय में है कितनी सम्पति है| ब) बिजनेस पर कितना ऋण है| ग) बिजनेस में कितनी किपटल है| 3) इसके अलावा, हम एकाउंटिंग रखने से बिजनेस के लाभ या हानि के कारण को समझ सकते है | ऊपर दिए गय फायदो से हमें आसानी से यह समझ में आता है की एकाउंटिंग बिजनेस की आम है| Defination :- एकाउंटिंग सीखते समय हम नियिमत रूप से कुछ शब्दों का प्रयोग करना पडता है। तो पहले हम इन शब्दों के अथ समझत है - 1) Goods :-  माल को बिजनेस में नियिमत और मुख्य रूप से खरीदा और बचा जाता है | उदाहरण के

Tally सीखें हिंदी में। - Tally में वाउचर एंट्री के टाइप देखना एवं वाउचर एंट्री करना।

1. वाउचर एंट्री के टाइप देखना 2. वाउचर एंट्री करना Voucher:  एक वाउचर एक दस्तावेज होता है, जो किसी वित्तीय ट्रांजेक्शन का विवरण होता है | मैन्युअल एंट्री में इस जर्नल एंट्री भी कहते है | वाउचर में सभी बिजनेस ट्रांजेक्शन पूर्ण विवरण के साथ रिकॉर्ड किया जाता है | Types of Voucher:  Tally.ERP 9 में पूर्व निधारित निम्नलिखित वाउचरके प्रकार है | 1) Contra (F4) :  यह प्रकार केवल बैंक अकाउंट और कैश ट्रांजेक्शन के लिए उपयोग होता है | उदाहरण के लिए आपने बैंक में कैश जमा किया या बैंक से कैश निकाला या फिर एक बैंक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रान्सफर किया तो इन्हे Contra में लेना चाहिए| लेकिन बैंक से लोन लिया तो यह इस वाउचर टाइप में नही आएगा| Eg. 1) Open Bank Account in Bank of India with Rs. 5000 2) Withdrawn from Bank of India Rs. 2000 2) Payment (F5) :  यह प्रकार तब सिलेक्ट करे जब ट्रांजेक्शन कैश में हो| उदाहरण के लिये जब cash a/c या किसी बैंक अकाउंट से कैश से भगतान किया हो तो इस टाइप को सिलेक्ट करे| E.g. 1) Machinary Purchase for cash Rs. 20000 2) Salary Paid Rs. 300

मार्गदर्शन:- कैसे और कहाँ से करें Hotel Management की प्रवेश परीक्षा की तैयारी?

क्या है होटल मैनेजमेंट(Hotel Management) Hotel Management  दुनिया के सबसे बड़े रोजगारों में से एक है। कोर्स खत्म करने के बाद इसमें नौकरी के बहुत अवसर हैं , मैनेजर और कार्यकारी के रूप में। यह कार्यक्षेत्र में एक व्यवसायिक काम है। इसमें डेस्क, सर्विस, रसोई, कैटरिंग, बार और आस्पिटेलिटी की व्यवस्था शामिल है। बाबर्ची , खानपान(catering) में लोकप्रिय विशेषज्ञों में से एक है। इस कोर्स की समाप्ति के बाद विद्यार्थी होटल उद्योगों, क्रूजर शिप आदि में नियुकत किए जाते हैं और वे अपना व्यापार भी शुरू कर सकते हैं। Also Read~ ★ कैसे करें Fashion Designing की प्रवेश परीक्षा की तैयारी? ★ मार्गदर्शन:-कैसे करे एयरहोस्टेस की तैयारी। एयरहोस्टेस कैसे बने। होटल मैनेजमेंट में उपलबध कोर्स (Courses Offered by hotel management): ★   Wildlife Photography में बनाये कैरियर। कैसे और कहाँ से करें तैयारी। Bachelor of Arts in Hotel Management Bachelor of Hotel Management (BHM) Bachelor of Science in Hotel Management BA (Hons) in Hotel Management BBA in Hotel Management Master of Science in