Skip to main content

Posts

Painting में Career कैसे बनाएं?

Painting एक ऐसा art या field है, जो काफी दिलचस्प है आज दुनिया भर में लाखों Painters अपने art की वजह से पैसा और शोहरत कमा रहे हैं लेकिन कई बार क्या होता है कुछ Artist को अपने इस करियर के बारे में सही ज्ञान न होने के कारण वे उस मुकाम पर नहीं पहुचं पाते, जहाँ उन्हें होना चाहिए ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें खुद ही ये knowledge नहीं होती कि वे अपने इस Art को दुनिया में कहाँ तक पहुंचा सकते हैं। इसलिए Painting में करियर बनाने से पहले आपको यह बात पता होनी चाहिए कि असल में Painting होती क्या है और इसकी क्षेत्र की गहराई क्या है। Artist बनने के लिए यह खूबी है जरुरी : Artist बनना एक ऐसा Profession बन गया है Educational basis और Non-Educational basis Painters अपने Talent की वजह से सफल रहे हैं। वैसे एक सफल Artist या Painter बनने के लिए आपके अंदर इन चीज़ों का होना आवश्यक है जिसमें पहली चीज़ है आपका Talent, दूसरी चीज़ है आपकी खुद की Philosophy कि आप अपने द्वारा तैयार की गयी इस प्रतिभा को किस तरह से बेचने में माहिर होते हैं। Painting का कोई सीमित क्षेत्र नहीं : Painting एक ऐसा art है जिसमें co

Freelancing क्या होता है? क्या सच मे इससे घर बैठ के पैसा कमाया जा सकता है?

अगर आप Part Time Job करना चाहते हैं या Online पैसे कामना चाहते हैं तो Freelancing आपके लिए बहुत ही Best है और साथ ही आप आसानी से छोटे कामों को करके अच्छे पैसे कमा सकते हैं। Freelancing बहुत तरह की हो सकती है जैसे Writing & Translation, Graphics & Design, Seo, Digital Marketing, Programming & Tech, Video & Animation, Music & Audio आदि सभी Freelancing में शामिल है Freelancing के बहुत सारे तरीके है,लेकिन अधिकतर Freelancer Sites के द्वारा ही Freelancer Jobs मिलती है, क्योंकि यह पूरी तरह विश्वसनीय होती है इस प्रकार Freelancing Sites एक ऐसा Platform प्रदान करती है जहाँ पर Buyer और Freelancers एक दूसरे को ढूंढ सकें और एक-दूसरे के साथ Interact (बातचीत) भी कर सकें अगर आप में भी कोई टैलेंट है या आपको भी कंप्यूटर का ज्ञान है और आप भी घर बैठे पार्ट टाइम काम करके पैसे कमाना चाहते है तो उसके लिए आपको किसी भी Freelancer Sites पर Freelancer Sign Up करना होगा जब आपका Freelancer Sign Up हो जाए तो आपके सामने कई प्रोजेक्ट होंगे, जिसमे से आप अपनी योग्यता या अपनी सुविधा के

इकहरी लेखा प्रणाली व दोहरी लेखा प्रणाली में अंतर बताइए| [Differentiate between single and double entry accounting.]

प्रश्न. इकहरी लेखा प्रणाली व दोहरी लेखा प्रणाली में अंतर बताइए| [Differentiate between single and double entry accounting.]

अकाउंट मास्टर क्या है ? [What is Account Master?]

Tally Notes in Hindi   प्रश्न. अकाउंट मास्टर क्या है ?  [What is Account Master?] उत्तर-  टैली में अकाउंट मास्टर कंपनी के लिए Accounts के चार्ट के रूप में जन जाता है | इसमें पूर्व में परिभाषित Account groups तथा vouchers उपलब्ध होते है | हमें अपनी कंपनी की आवश्यकता अनुसार इनको बनाना और परिभाषित कर्णम होता है | टैली में किसी भी कंपनी की Financial Accounting से सम्बंधित निम्नलिखित मास्टर्स आवश्यक होते है |  समूह (Groups) लेजर (Ledger) लागत के वर्ग (Cost Categories) लागत केंद्र (Cost centers) बजट (Budgets) परिदृश्य (Scenarios) मुद्राएँ (Currencies) वाउचरों के प्रकार (Voucher types) समूह (Ledger groups), लेजर (Ledger A/c) तथा voucher के प्रकार (Accounts voucher type) ये तीनो टैली में आवश्यक Accounts मास्टर होते है |   

टैली में Excise Stock Register Maintain करने की विधि लिखिए | [Write the steps to excise Stock Registered Maintain in Tally.]

Tally Notes in Hindi    प्रश्न. टैली में Excise Stock Register Maintain करने की विधि लिखिए |  [Write the steps to excise Stock Registered Maintain in Tally.] उत्तर- Step 1 : Gateway of Tally से F11 Press करके निम्न को Yes करेंगे-           1. F1 A/c features में           Integrate A/c Inventory : Yes           2. Allow Invoicing           Enter Purchase in Invoice Format : Yes           3. Use Debit/Credit Notes : Yes           Use Invoice Code for Credit Notes : Yes           Use Invoice Code for Debit Note : Yes           Alter Ctrl + A : Yes (Save) करेंगे |   Step 2 : inventory features में Seperate Discount Column on Invoice : Yes           Alter Ctrl + A : Yes (Save)   Step 3 : F3 Statutory & Taxation में Enable Dealer excise : Yes           Set/Alter Dealer excise Detail : Yes   Company excise detail लिखेंगे   Ctrl + A से save करेंगे |   Step 4 : Account, info में जाकर निम्न कार्य करेंगे-   1. Purchase of Tally →A/c Info

Service Tax किसे कहते है ? उदाहरण सहित बताओ | [What is Service Tax ? Explain with example.]

Tally Notes in Hindi    प्रश्न. Service Tax किसे कहते है ? उदाहरण सहित बताओ |  [What is Service Tax ? Explain with example.]   उत्तर-  किसी व्यक्ति (person) या संस्था (Firm) द्वारा प्रदान की जाने वाली सेवाओ (जैसे- Telephone Service, Educational Service, Courier Service आदि) के मूल्य पर सेवाकर (Service Tax) लगता है | Service Tax प्रदान की गई सेवाओ के मूल्य पर लगता है | Service Tax प्रदान की गई सेवाओ के मूल्य पर 12% की दर से लगता है तथा 2% की दर से Education cess s 11. की दर से Higher Education cess service tax पर लगता है    Service tax चुकाने का दायित्व तभी बनता है जब प्रदान कि गई सेवा का मूल्य प्राप्त हो चूका है | प्रदान कि गई सेवा के Service Tax (output service) में प्राप्त हो गई सेवा के Service Tax (Input Service) को घटाने के बाद जो राशि बचती है वह हमें Government को चुकाना पड़ता है | अर्थात् प्राप्त कि गई सेवाओ के Service Tax कि हमें छुट मिलती है |  Eg. मान लो प्रदान कि गई सेवा output service का मूल्य Rs. 10,000 है तथा प्राप्त कि गई सेवा (Input Service) का मूल्य

टैली ऑडिट क्या है? [What is Tally Audit ? Explain?]

Tally Notes in Hindi    प्रश्न.  टैली ऑडिट क्या है?  [What is Tally Audit ? Explain?]   उत्तर-  टैली 9 में डेटा इंटीग्रिटी चेक को प्रयोग किया गया है| इसकी वजह से डेटा में कोई इंटरनल चेंज नहीं आ पाता है| इसकी वजह से प्रयोगकर्ता को प्रशासकीय या एडमिनिस्ट्रेटर(Administrator) के अधिकार प्राप्त होते है| इस क्षमता को प्राप्त करने के बाद यूजर डेटा की शुद्धतापर नज़र रख सकता है और किसी भी अन्य यूजर को अधिकृत भी कर सकता है| यह यूजर यूजर डेटा को alter करने में सक्षम होता है | यदि एक बार एंट्री को ऑडिट किया जा चूका है और इसके बाद भी इसमें कोई परिवर्तन किया जा सकता है |