Header Ads

  • Latest Post

    मार्गदर्शन:- कैसे करें बैकिंग की तैयारी (IBPS PO)?





    कया है IBPS PO ?

    IBPS PO  की परीक्षा IBPS के द्वारा आयोजित की जाती है। इसके द्वारा उम्मीदवारों को  PO बनने का अवसर मिलता है। IBPS सभी public sector बैंकों के लिए यह परीक्षा आयोजित करता है। तो लगभग 20 के आसपास public sector  बैंक है जो ibps में हिसा लेते हैं।

    Elegibility Criteria :-

    आयु सीमा : - 20-28 general category के लिए

    (reserved categories के लिए 5 वर्ष की छूट )

    (OBC के लिए 3  वर्ष की छूट)

    (विकलांगों के लिए 10 वर्ष की छूट)

    शैक्षणिक योग्यता :-  60 प्रतिशत अंक स्नातक में जो कि एक मान्य विश्वविद्यालय में (इसमें reserved category के लिए 5 वर्ष की छूट है)

    परीक्षा की प्रणाली: सामान्य लिखित परीक्षा और सामान्य साक्षात्कार

    Passing marks:- 40 प्रतिशत अंक हर विषय में और कुल अंक 100

    परीक्षा की विधि(Paper Pattern): -

    यह परीक्षा एक सामान्य लिखित परीक्षा और उसके बाद एक साक्षात्कार से संपन्न होती है। सिर्फ वो आवेदक जो सामान्य लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं, केवल वहीं साक्षात्कार में बैठ सकते हैं।




    Common Written Exam:

    The test is of 200 marks and will cover five areas: Quantitative Aptitude, General Awareness, Reasoning, Computer Knowledge and English Language.

    Common interview

    Initially, the participating banks conducted the common interview. But since 2012, IBPS has taken up the responsibility to arrange the common interview at various locations. Post which, they will prepare a list of the meritorious candidates, which the banks will then refer to for the recruitment process.

    IBPS पेपर पैटर्न(Papper Pattern):

    सामान्य लिखित परीक्षा की अवधि 120 मिनट की है और ये परीक्षा नीचे दिए गए विषयों में इस तरह से बंटता है।



    सभी प्रश्न एक अंक के होते हैं और इसमें प्रत्येक गलत उत्तर के लिए – 0.25 negative marking  की जाती है।

    किस तरह से केंट तैयारी (कुछ महत्वपूर्ण बाते Preparation Tips): -

    1. पाठयक्रम को समझे:-




    चाहे आप पहली बारी ही इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हों या फिर आप पहले भी इस परीक्षा में बैठ चुके हों, दोनों ही बातों में यह बहुत जरूरी है कि आपको पाठयक्रम की पूरी समझ हो। तो हम आपको बता दें कि IBPS PO  का पाठयक्रम पांच विषयों से बनता है। ये विषय है: Reasoning, English Language, Numerical Ability, General Awareness and Computer Knowledge इनमें से  Banking Industry और Computer Knowledge के ज्यादा सवाल पूछे जाते हैं।

    2. पढऩे की आदत को अपनाएं:

    एक बार अपने ये थान लिया कि आपने  IBPS PO की तैयारी करनी है तो आप तुरंत पढ़ने की आदत को बडावा  दें । आपको  बहुत सारी किताबे, खबरे और Internet से ज्ञान पढऩा है, साथ ही आपको current affairs  और सामान्य ज्ञान भी पढऩा है और ये भी जरूरी है कि आप प्रतिदिन किसी English newspapper को पढ़ें।

    3. खुद को कम्प्यूटर का दोस्त बनाएं:




    हो सकता है कि आपका कम्प्यूटर ज्ञान बहुत कम हो, परंतु आईबीपीएस को उत्तीर्ण करने के लिए आपको कम्प्यूटर के प्रश्नों का उत्तर लिखना ही पड़ेगा। आपको कम्प्यूटर से जुड़े हर सामान्य ज्ञान को पाना है। इसकी मदद से आप Internet  में छुपे असीमित ज्ञान को भी पा सकते हैं। तो बहुत जरूरी है कि आप कम्प्यूटर को अपना दोस्त बनाएं।

    4. समय नियोजन का पूरा उपयोग करें:

    अगर आप आईबीपीएस में प्रवेश करना चाहते हैं तो आपको अपने हर पल का हिसाब रखना पड़ेगा। आप एक भी पल को व्यर्थ न गवाएं। आईबीपीएस में 200 प्रश्न हैं, जिन्हें 120 मिनटों मेंउत्तर करना है। तो आप ये हिसाब लगा सकते हैं कि आपको हर प्रश्न को उत्तर करने के लिए एक मिनट से भी कम का समय मिलता है। तो घड़ी को अपने पास रख कर आज से ही इस परीक्षा की तैयारी शुरू करें और अभ्यास के लिए आप हर दिन दो घंटों का समय चयनित करके 200 अभ्यास प्रश्नों का उत्तर देने की कोशिश करें। इससे पता लगाया जा सकता है कि आपको प्रश्नों का उत्तर देने में कितना समय लगता है।

    5. अपनी कमजोरियों का आकंलन करें:




    आप अपनी कमियों को अभ्यास के द्वारा खोज सकते हैं। इससे आपको पता चलेगा कि किन-किन विषयों में आपको ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। आप उन विषयों को ठोस करने के लिए अपना अभ्यास तेज कर सकते हैं। उन विषयों को ज्यादा समय दे सकते हैं। साथ ही अपनी गति का भी आंकलन कर सकते हैं, जिस गति से आप अपने प्रश्नों का उत्तर कर रहे हैं।

    6. अभ्यास परीक्षा एवं मॉक टेस्ट का सहारा लें:

    आपकी तैयारी के लिए सबसे उच्च तरीका ये है कि आप खुद ही अभ्यास प्रश्नों की परीक्षा करें और घड़ी में समय निर्धारित करें। ये आपको हौंसला देगा और निरंतर आगे बढऩे के लिए रास्ता भी।

    7. आप अपनी विधि और चालों (tricks)  का इस्तेमाल करें:

    आप जानते हैं कि हर प्रश्न का उत्तर देने के लिए एक मिनट से कम का समय है और हर गलत उत्तर पर आपके 0. 25 अंक काटे जाते  हैं। इसलिए ये जरूरी है कि आप सूझबूझ कर प्रश्नों का उत्तर दें। सभी प्रश्नों का उत्तर करना ज्यादा जरूरी नहीं है। किंतु ये ज्यादा जरूरी है कि आप जितने भी प्रश्नों का उत्तर करें वे सही हो और कम से कम आप 120 प्रश्नों का सही उत्तर करें।




    8. परीक्षा में अनुमान न लगाएं:

    हर अलत उत्तर आपको 0.25 negative अंक ले के आएगा इसलिए आप तुक्का न लगाए। इसलिए यह जरूरी है कि आप उन्हीं प्रश्नों का उत्तर करें, जिनकी आपको पूर्णता जानकारी हो।

    9. अपने दिमाग पर बोझ न डाले:

    शांत रह कर तैयारी करने पर आप खुद को बेहतर तैयार कर सकते हैं। दिमाग पर बोझ डालने से चीजें याद रखना कठिन हो जाता है। अपनी तैयारी के दौरान खुद को जरूरी आराम दें और अपनी सेहत का ध्यान भी रखें। खुद के निरंतर उत्साहित करते रहें आखिर ये एक परीक्षा ही है।

    10. खुद पर विश्वास :

    खुद पर विश्वास रखना बहुत जरूरी है कि यह आपको निरंतर उत्साहित करेगा। मेहनत विश्वास और लग्न से अगर आप तैयारी करेंगे तो आप निश्चय ही सफल होकर आएंगे।



    No comments