Skip to main content

माइक्रोसॉफ्ट Powerpoint क्या हैं। इसमें कैसे काम करते है।






MSPOWERPOINT

Powerpoint(पावरप्वाइन्ट ):- यह साफ्टवेयर भी  msoffice के अन्दर पाया जाता है। जिसका प्रयोग सूचना को आकर्षित ढंग से पेश किया जाता है। इसमे data animation & sounds लगा सकते है।
पावरप्वाइन्ट प्रेजेन्टेशन slides, handouts, speaker notes, media clips, object chart का एक समूह होता है।

Slide (स्लाइड):-यह  presentation  का एक भाग होता है। इसके अन्दर  text, object and graphics with animation & sound होता है। जिसका on screen presentation किया जाता हैं।

Hsandsouts(हैन्डअउटस):- यह presentation का printout  होता है। इसमें एक पेज में दो, चार, छः स्लाइडस हो सकती है। यह  prisentation मुख्य रूप से श्रोताओ को दिया जाता है। जिसमे स्लाइड के कन्टेन्टस कम्पनी का नाम प्रेजेन्टस, की तारीख और स्पीकर का नाम होता है।  

Speaker Notes (स्पीकर नोटस):- यह श्रोताओ के सामने print  करने में सहायता करता है। यह श्रोताओ को दिखायी नही देता है।




Media Clips (मीडिया क्लिप्स ):- इसके अन्तर्गत  sound, vedio clips animation  इत्यादि आते है। जिसके प्रयोग  presentation को आकर्षक एवं प्रिय बनाने के लिये किया जाता है।

Organisation Chart (आर्गनाइजेशन चार्ट ):-  यह किसी organization  के  structure को hierarchical manner में  present करने के लिये किया जाता है।

Graph(ग्राफ):- numerical  डाटा की प्रक्र्रति एव व्यवहार को आसानी से समझने के लिए इसका प्रयोग किया जाता हैं जैसे कि bar graph, pie chart & bar chart इत्यादि।

POWERPOINT खोलने के लिए

POWERPOINT खोलने के लिए Autocontent Wizard(आटो कन्टेन्ट विजार्ड
POWERPOINT खोलने के लिए

हम start->all program->mspowerpoint  पर click करते तो  powerpoint  खुल जाता है। और इसकी window screen पर दिखायी देती है। जो नीचे दी गयी है।




Autocontent Wizard(आटो कन्टेन्ट विजार्ड ):- इसकी मदद से step by step यूजर को screens  मिलती जाती है। जहाॅ पर यूजर  input करता जाता है। अन्ततः एक  presention  तैयार हो जाता है।

Design Template(डिजाइन टेम्पलेट):

इससे कुछ पहले से बने बनाये फार्मैट पडे होते जिसको user चुन सकता है। और उसी फार्मैट में अपनी स्लाइड बना सकता है।

Blank Presentation(ब्लैंक प्रजेन्टेशन)

इस आपशन से एक  blank  स्लाइड बना सकते है। जो यूजर को एक sketchप्रदान करता है। यह आपशन सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाता है।
Open An Existing Presentation (ओपेन एन इग्स्टिंग):-

इससे पहले से बनी हुई स्लाइडस खोली जाती है।



Comments

Popular posts from this blog

Tally सीखें हिंदी में।- Accounting क्या है, Accounting के महत्व,डेफिनेशन एवं प्रकार।

1. एकाउंटिंग क्या है ? 2. एकाउंटिंग के महत्व क्या है ? 3. एकाउंटिंग की डेफिनेसन ? 4. एकाउंटिंग के रूल्स और प्रकार  Accounting :-  एकाउंटिंग यह एक प्रोसेस है पहचान करने की, रिकॉर्डिंग, सारांश और आर्थिक जानकारी की रिपोर्टिंग की, जो निर्माताओं के लिए वित्तीय ब्यौरा देकर निर्णय लेन के लिए मददत करता है | Advantages of Accounting :- निमंलिखित एकाउंटिंग रखने से लाभ होता है - 1) एकाउंटिंग से हम किसी विशेष समय की अवधि में लाभ या हानि हुई है यह समझ सकते है। 2) हम कारोबार के निम्न वित्तीय स्थिति को समझ सकते है अ) व्यवसाय में है कितनी सम्पति है| ब) बिजनेस पर कितना ऋण है| ग) बिजनेस में कितनी किपटल है| 3) इसके अलावा, हम एकाउंटिंग रखने से बिजनेस के लाभ या हानि के कारण को समझ सकते है | ऊपर दिए गय फायदो से हमें आसानी से यह समझ में आता है की एकाउंटिंग बिजनेस की आम है| Defination :- एकाउंटिंग सीखते समय हम नियिमत रूप से कुछ शब्दों का प्रयोग करना पडता है। तो पहले हम इन शब्दों के अथ समझत है - 1) Goods :-  माल को बिजनेस में नियिमत और मुख्य रूप से खरीदा और बचा जाता है | उदाहरण के

Tally सीखें हिंदी में। - Tally में वाउचर एंट्री के टाइप देखना एवं वाउचर एंट्री करना।

1. वाउचर एंट्री के टाइप देखना 2. वाउचर एंट्री करना Voucher:  एक वाउचर एक दस्तावेज होता है, जो किसी वित्तीय ट्रांजेक्शन का विवरण होता है | मैन्युअल एंट्री में इस जर्नल एंट्री भी कहते है | वाउचर में सभी बिजनेस ट्रांजेक्शन पूर्ण विवरण के साथ रिकॉर्ड किया जाता है | Types of Voucher:  Tally.ERP 9 में पूर्व निधारित निम्नलिखित वाउचरके प्रकार है | 1) Contra (F4) :  यह प्रकार केवल बैंक अकाउंट और कैश ट्रांजेक्शन के लिए उपयोग होता है | उदाहरण के लिए आपने बैंक में कैश जमा किया या बैंक से कैश निकाला या फिर एक बैंक अकाउंट से दूसरे अकाउंट में पैसा ट्रान्सफर किया तो इन्हे Contra में लेना चाहिए| लेकिन बैंक से लोन लिया तो यह इस वाउचर टाइप में नही आएगा| Eg. 1) Open Bank Account in Bank of India with Rs. 5000 2) Withdrawn from Bank of India Rs. 2000 2) Payment (F5) :  यह प्रकार तब सिलेक्ट करे जब ट्रांजेक्शन कैश में हो| उदाहरण के लिये जब cash a/c या किसी बैंक अकाउंट से कैश से भगतान किया हो तो इस टाइप को सिलेक्ट करे| E.g. 1) Machinary Purchase for cash Rs. 20000 2) Salary Paid Rs. 300

मार्गदर्शन:- कैसे और कहाँ से करें Hotel Management की प्रवेश परीक्षा की तैयारी?

क्या है होटल मैनेजमेंट(Hotel Management) Hotel Management  दुनिया के सबसे बड़े रोजगारों में से एक है। कोर्स खत्म करने के बाद इसमें नौकरी के बहुत अवसर हैं , मैनेजर और कार्यकारी के रूप में। यह कार्यक्षेत्र में एक व्यवसायिक काम है। इसमें डेस्क, सर्विस, रसोई, कैटरिंग, बार और आस्पिटेलिटी की व्यवस्था शामिल है। बाबर्ची , खानपान(catering) में लोकप्रिय विशेषज्ञों में से एक है। इस कोर्स की समाप्ति के बाद विद्यार्थी होटल उद्योगों, क्रूजर शिप आदि में नियुकत किए जाते हैं और वे अपना व्यापार भी शुरू कर सकते हैं। Also Read~ ★ कैसे करें Fashion Designing की प्रवेश परीक्षा की तैयारी? ★ मार्गदर्शन:-कैसे करे एयरहोस्टेस की तैयारी। एयरहोस्टेस कैसे बने। होटल मैनेजमेंट में उपलबध कोर्स (Courses Offered by hotel management): ★   Wildlife Photography में बनाये कैरियर। कैसे और कहाँ से करें तैयारी। Bachelor of Arts in Hotel Management Bachelor of Hotel Management (BHM) Bachelor of Science in Hotel Management BA (Hons) in Hotel Management BBA in Hotel Management Master of Science in