• Latest Post

    ऐश्वर्या राय से जुड़े ऐसे रोचक तथ्य जो नही जानते होंगे आप।


    * ऎश्वर्या बॉलीवुड की जानी-मानी एक्ट्रेस हैं। 1994 में उन्होंने मिस वल्र्ड का खिताब जीता था। उनको लगभग 60 लाख रूपए पुरस्कार के तौर पर मिले। मिस वल्र्ड बनने के बाद वे बॉलीवुड में एक्ट्रेस के तौर पर काम कर रही हैं। उनकी इन्कम के मुख्य स्त्रोत एक्टिंग, फैशन शो और विज्ञापनों में मॉडलिंग है।


    * शादी के कुछ समय बाद उन्होंने फिल्मों में काम करना कम कर दिया। फोब्र्स मैगजीन के अनुसार जनवरी 2013 तक उनकी सालाना आय लगभग 14 करोड़ रूपयों की थी। वे एक फिल्म के लिए लगभग छह करोड़ रूपए लेती हैं। एक अन्य स्त्रोत के अनुसार उनकी व्यक्तिगत सम्पत्तियां लगभग 210 करोड़ रूपए के आसपास है।




    * उनका जन्म कर्नाटक के मंगलौर शहर में 1973 में हुआ। बाद में उनका परिवार मुम्बई आ गया। उनके पिता मैरीन बाइलॉजिस्ट थे और मां गृहणी। उनका बड़ा भाई भी है, जो मर्चेट नेवी में इंजीनियर है।


    * मुंबई में उन्होंने आर्य विद्या मन्दिर स्कूल से अपनी शिक्षा ग्रहण की। उन्होंने अपने कॉलेज की पढ़ाई मुंबई के जय हिन्द कॉलेज और डी. जी. रूपारल कॉलेज से की।





    * जब वे नवीं कक्षा में थी, तो उन्होंने पेंसिल बनाने वाली कंपनी कैमलिन के विज्ञापनों में कार्य किया। उन्होंने अपने खाली समय में लगातार पांच वष्ाोü तक भारतीय क्लासिकल डांस और संगीत की शिक्षा ली।


    * मेडिसिन में अपना कॅरियर बनाना चाहती थी, क्योंकि जूलॉजी उनका फेवरिट सब्जेक्ट था। लेकिन वे अपने इस लक्ष्य में सफल नहीं हो पाई। तब उनके दिमाग में विचार आया कि उन्हें बतौर आर्कि टेक्ट अपना कॅरियर बनाना चाहिए। इसलिए उन्होंने मुंबई के रहेजा कॉलेज ऑफ आट्र्स में एडमिशन ले लिया। वहां वे अपनी डिग्री पूरी नहीं कर पाई, क्योंकि उनका मॉडलिंग कॅरियर बहुत अच्छा निखर गया।


    * मेडिसिन में अपना कॅरियर बनाना चाहती थी, क्योंकि जूलॉजी उनका फेवरिट सब्जेक्ट था। लेकिन वे अपने इस लक्ष्य में सफल नहीं हो पाई। तब उनके दिमाग में विचार आया कि उन्हें बतौर आर्कि टेक्ट अपना कॅरियर बनाना चाहिए। इसलिए उन्होंने मुंबई के रहेजा कॉलेज ऑफ आट्र्स में एडमिशन ले लिया। वहां वे अपनी डिग्री पूरी नहीं कर पाई, क्योंकि उनका मॉडलिंग कॅरियर बहुत अच्छा निखर गया।


    * उनका अगला मंत्र है कि हमें जीवन की कठोर वास्तविकताओं से दूर नहीं भागना चाहिए। उनका सामना करके उनमें से रास्ते निकालने चाहिए। समय के साथ सुन्दरता का अंत होता है। इससे घबराने की जरूरत नहीं है। आपका काम आपका श्रम आपके साथ रहता है।





    No comments