• Latest Post

    क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की धोखाधड़ी से बचने के उपाय।






         आजकल ऐसे मामले बहुत बढ़ गए हैं। लेकिन कुछ सावधानियां हैं जिन्हें अपनाकर आप ठगी का शिकार होने से बच सकते हैं। क्रेडिट कार्ड का अगर समझदारी से इस्तेमाल किया जाए, तो इसके काफी फायदे हैं। आखिर आज के जमाने में कौन आपको बिना ब्याज 1.5 महीने के लिए पैसे देता है। लेकिन, एक छोटी सी चूक आपको बड़ी मुश्किल में डाल सकती है। इसलिए कुछ एहतियात काफी जरूरी हैं ताकि आप सुरक्षित रहें।
    किसी को भी अपने क्रेडिट कार्ड के दोनों तरफ की फोटो कॉपी न दें। ऑनलाइन ट्रांजैक्शन के लिए जरूरी कार्ड वेरिफिकेशन वैल्यू (सीवीवी) कार्ड के पीछे की ओर ही छपा होता है। लिहाजा क्रेडिट कार्ड नंबर के साथ कोई भी इसका गलत इस्तेमाल कर सकता है। ऐसे ई-मेल लिंक्स पर कतई क्लिक ना करें जिस पर आपके अकाउंट डिटेल्स मांगे गए हों। ये ठगों के फिशिंग मेल हो सकते हैं। जबकि ज्यादातर जानी-मानी कंपनियां सीधे अपनी वेबसाइट पर जाने को कहती हैं।




    क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करते वक्त अच्छी तरह से ये जांच-परख लें कि वेबसाइट सिक्योर है या फिर नहीं। अगर आपको जरा भी संदेह होता है तो किसी एक्सपर्ट की मदद लें या बेवसाइट के बारे में इंटरनेट पर सर्च करें। फोन पर किसी को भी अपने अकाउंट डिटेल्स न दें, खासतौर पर टेलिमार्केटिंग कंपनियों को। अगर आप अपने क्रेडिट या डेबिट कार्ड का स्टेटमेंट वक्त पर नहीं पाते हैं तो इसकी जानकारी बैंक को दें। साथ ही कार्ड अगर गुम हो जाता है तो इसे बिना देर किए कैंसिल करा दें।
    पुराने बैंक स्टेटमेंट, क्रेडिट कार्ड एप्लिकेशन, बिल को छोटे टुकड़ों में फाड़कर फेंक दें। नहीं तो किसी के हाथ लग जाने पर आपके व्यक्तिगत जानकारी का गलत इस्तेमाल का खतरा होता है। अगर इन सब एहतियात के बाद भी आप धोखाधड़ी के शिकार होते हैं तो इसकी जानकारी तुरंत बैंक को दें और आगे की कार्रवाई के लिए कहें।



    No comments