Header Ads

  • Latest Post

    स्नातक के बाद होने वाला परीक्षा क्या है कैसे करे इसकी तैयारी।







    कैसे करे एसएससी-सीजीएल (SSC-CGL) परीक्षा की तैयारी?


    क्या है एसएससी-सीजीएल(SSC-CGL) ?


    यह परीक्षा एसएससी(SSC) यानी स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (Staff Selection Commission) द्वारा आयोजित की जाती है। यह सबसे बड़ी परीक्षा है , जो सनातक छात्रों के लिए आयोजित की जाती है। जो छात्र इस परीक्षा में उत्तीर्ण होते हैं, उन्हें भारत सरकार के अलग-अलग भागों में और मंत्रालय में भर्ती किया जाता है। इसमें अलग-अलग तरह की नौकरी आती है जिनमें नीचे लिखी गई नौकरियां प्रमुख हैं:-

    Posts for which you can apply :



    • Inspector of Income Tax
    • Inspector (Central Excise)
    • Inspector (Preventive Officer)
    • Inspector (Examiner)
    • Inspector
    • Assistant Enforcement Officer
    • Inspector(CBN) Compiler
    • Divisional Accountant
    • Auditors
    • UDCs
    • Tax Assistants
    • Junior Accountant & Accountant
    • Sub-Inspector (CBN)
    • Statistical Investigator Gr II Not to exceed 26 years
    • Assistant / Sub Inspector in CBI Between 20 27 years




    पात्रता की शर्तें (Elegibility Criteria) :


    राष्ट्रीयता :- जो उम्मीदवार एसएससी-सीजीएल (SSC-CGL) के लिए आवेदन देना चाहते हैं वे भारत के नागरिक होने चाहिए।

    शैक्षणिक योग्यता :- उम्मीदवार किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक होना चाहिए।

    आयु सीमा :- 18-27 वर्ष (आरक्षित श्रेणियों के लिए सरकार द्वारा तय नियमों के अनुसार उम्र में छूट है।)

    पेपर पैटर्न(paper pattern) :


    यह परीक्षा तीन भागों में आयोजित की जाती है- टायर-I, टायर-II, टायर-III सभी की जानकारी नीचे दी गई है।

    टायर-I :- इस भाग में सामान्य लिखित परीक्षा आती है। (MCQ)

    टायर-II :- इस भाग में भी सामान्य लिखित परीक्षा आती है। (MCQ)

    टायर-III :- इस भाग में पर्सनैलिटि टैस्ट, इंटरव्यू, कम्प्यूटर दक्षता टैस्ट और डॉक्यूमेंट की जांच आदि आते हैं।

    पाठ्यक्रम की जानकारी (SSC-CGL syllabus) :


    टायर-I :- इस परीक्षा की कठिनाई एक मध्यम वर्ग की मानी जाती है। अच्छी तैयारी के साथ कोई भी प्रतिभागी बहुत अच्छें अंक ला सकता है। इस भाग की तैयारी करने के लिए बहुत सारी किताबें मिलती हैं, इंटरनेट पर अभ्यास पेपर मिल जाते हैं, जिनसे आप अपनी तैयारी एक अच्छे ढंग से कर सकते हैं।

    सामान्य ज्ञान (General Awerness) :- इस भाग में प्रतिभागी का सामान्य ज्ञान परखा जाता है। साथ ही राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय ज्ञान भी देखा जाता है। इसमें समसमायिक का भाग भी रहता है। आपके बुनियादी ज्ञान को परखने के लिए बहुत सारे प्रश्न पूछे जाते हैं। इतिहास, सांस्कृति, विज्ञान, अर्थशास्त्र, सामान्य नीतियां और वैज्ञानिक शोध जैसे विषयों के बारे में प्रश्न पूछे जाते हैं। इसकी तैयारी के दौरान आपको इन सभी विषयों पर जानकारी प्राप्त करनी है और एक अच्छा ज्ञान हासिल करना है।




    Quantitative Apptitude :- इस भाग में आपकी गणित कुशलता को परखा जाता है। आपको इन सभी विषयों पर सबाल पूछे जाते हैं जैसे कि Numbers, Decimals, Fractions, Relationship between numbers, Percentage, Ratio, Profit and Loss, Discount, Partnership, Time and Distance, School Algebra, Trigonometric ratio, Heights and distances, Histogram etc.आप जितने ज्यादा गणित के सवालों को हल करने का अभ्यास करें उतना ही आपको यह विषय सरल लगता जाएगा। इस परीक्षा की तैयारी में आप वैदिक गणित के सूत्रों का भरपूर उपयोग कर सकते हैं। वैदिक गणित से आप बहुत बड़े सवालों का हल बहुत छोटे तरीके से और कम समय में कर सकते हैं। आप अपनी सूझबूझ से भी गणित को निखार सकते है । ध्यान रखें की आप प्रश्नों का हल समय के अंदर ही करें।

    अंग्रेजी(English) :- इस भाग में परीक्षार्थी की अंग्रेजी भाषा की बुनियाद को जांचा जाता है। इसमें आपकी पढऩे और लिखने दोनों की क्षमता को परखा जाता है। इसकी तैयारी करने हेतु आप सामान्य अंग्रेजी की किताबों की मदद से सकते हैं। अंग्रेजी में लिखे गए लेख को पढऩे एवं समझने का अभ्यास करें। जिससे आपको अंग्रेजी व्याकरण की अच्छी समझ लगेगी साथ ही आपको परीक्षा में किस तरह अंग्रेजी प्रश्नों का उत्तर देना है। इसकी भी समझ हो जाएगी। आप एक अंग्रेजी न्यूज पेपर को रोज पढ़ें वह आपके लिए सहायक सिद्ध होगा।

    टायर-II :- Quantitative Apptitude और अंग्रेजी:- इसमें आपसे एकल और बहु विकल्प प्रश्न पूछे जाएंगे। हर गलत उत्तर के लिए 0.25 की नेगटिव मार्किंग भी है। इसलिए आपको उत्तर बुद्धिमता से चुनना होगा। इसलिए आपकों उन्हीं प्रश्नों का उत्तर देना चाहिए जिनके उत्तरों की पुष्टि आपकों पूरी तरह से हो।

    Quantitative apptitide में इन सभी विषयों से प्रश्न पूछे जाएंगे। Number System, Percentage, Time and Work, Profit and Loss account, Average, Time, speed and distance, Algebra, Geometry, Trigonometry, and Statistics उम्मीदवारों को इन सभी विषयों की पूरी तरह जानकारी होनी चाहिए। इसलिए इन सबके अनुसार तैयारी करें।

    अंग्रेजी में निम्नलिखित विषयों में तैयारी करनी होगी like Finding errors, Fill in the blanks, Synonyms and Antonyms, Wrongly spelt words, Idioms and phrases, Para jumbos, One-word substitution, Active and passive voice, direct and indirect narration, reading comprehension. इस भाग की तैयारी के लिए जितने हो सके उतने मॉक टैस्ट हल करें। इसके लिए बहुत से टैस्ट हैं जो आपके आनलाईन दे सकते हैं।

    सांख्यिकी(Statistics):- जो उम्मीदवार सांख्यिकी जांच अधिकारी(Statistical Investigator Officers) के लिए आवेदन कर रहे हैं उन्हें यह परीक्षा देनी होगी।

    टायर-III:-

    इंटरव्यू/स्किल टेस्ट राउंड(Interview/ skill test round):-




    सभी परीक्षार्थी जो टायर-I और टायर-II की परीक्षा पास कर लेंगे। उन्हें इंटरव्यू और स्किल टेस्ट के लिए बुलाया जाएगा। इस दौर में परीक्षार्थी के व्यक्तित्व, कम्प्यूटर ज्ञान और कौशल को परखा जाएगा। अपने आपको इन सबके अनुसार तैयार करें। अपने आपको मानसिक रूप से मौलिक प्रश्नों के लिए तैयार रखें जो कि साक्षात्कार में पूछे जाते है जैसे की आपकी शैक्षणिक पृष्ठभूमि, भविष्य की योजनाएं, सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न आदि और इस पद के बारे में भी जानकारी रखें जिसके लिए आपने आवेदन किया है।

    तैयारी के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातें (Preparation tips) :


    1. हमेशा अपने आपको पाठ्यक्रम के अनुसार update रखें। पाठ्यक्रम को पूरी तरह समझें और किसी भी विषय को न छोड़े।

    2. कम से कम समय में ज्यादा से ज्यादा प्रश्नों का उत्तर देने की योजना बनाएं। तैयारी करते समय प्रश्नों को समय पर हल करने का प्रयास करें। इस तरह से आप अपने समय को परीक्षा हाल में आसानी से प्रतिबंधित कर सकते हैं।

    3. ज्यादा से ज्यादा प्रश्न पत्र, मॉक टेस्ट और आनलाईन टेस्ट को हल करने का प्रयास करें। जितने प्रश्न आप हल करेंगे उतना ही आपका मनोबल बढ़ेगा।

    4. गणित के प्रश्नों को हल करने के छोटे तरीके और याद रखने के तरीके सीखें ताकि आप परीक्षा में प्रश्नों को कुशलता के साथ हल कर सकें।

    5. अगर आपको जरूरी लगता है तो आप कोचिंग भी ले सकते हैं।

    6. अंत में अपने मनोबल को बढ़ाते रहें कि आप परीक्षा पास कर सकते हैं। एक बार अगर आप आश्वस्त हो गए, तो कोई भी परीक्षा आपके लिए पास करना कठिन नहीं होगी।



    No comments