Header Ads

  • Latest Post

    Google Adsense को Optimize कैसे करे। जिससे आपका इनकम बढे।



    गूगल ऐडसेंस दुनिया का सबसे लोकप्रिय पे पर क्लिक विज्ञापन नेटवर्क है जो हर प्रकार के ब्लॉग के लिए बेस्ट विकल्प है। यह इस प्रकार के अन्य पीपीसी नेटवर्क की तुलना में कहीं अधिक पैसे देता है। गूगल ऐडसेंस सीपीसी या कॉस्ट पर क्लिक के आधार पर काम करता है।

    गूगल ऐड नेटवर्क के साथ हर प्रकार के एडवर्टाइज़र जुड़े हैं, जिससे आपके ब्लॉग पर तरह तरह के ऐड दिखेंगे जो अन्य ऐड नेटवर्क की तुलना यूज़र्स को बहुत अधिक प्रोडक्ट्स के विज्ञापन दिखायेगा। जिससे विज्ञापन पर क्लिक होने की सम्भावना बढ़ जायेगी।



    यह ऐड नेटवर्क नये और प्रोफ़ेशनल दोनों ब्लॉगर्स के लिए फ़ायदेमंद है। इस पर अनेक प्रकार ऐड फ़ार्मेट हैं और बहुत से ऐड साइज़ हैं, जिन्हें आप अपने ब्लॉग पर ज़रूरत के अनुसार लगा सकते हैं। सबसे अच्छी बात है कि आप किसी भी ऐडवर्टाइज़र के विज्ञापनों को अपने ब्लॉग पर दिखने से रोक सकते हैं। गूगल ऐडसेंस आपको सर्च बॉक्स और लिंक यूनिट के माध्यम से भी कमाई करने का मौक़ा देता है।

    आप किसी ऐडवर्टाइज़र से ख़ुद विज्ञापन लेकर उसे डबल-क्लिक पब्लिशर के माध्यम से ब्लॉग पर जोड़ सकते हैं। आपके पास रिपोर्ट, पेमेंट मेथेड और पेमेंट थ्रेसहोल्ड के कई विकल्प होते हैं। जो फीचर आपको एडसेंस के साथ मिलते हैं वो अन्य किसी भी नेटवर्क पर मौजूद नहीं हैं।




    जैसे ही आप अपनी साइट पर विज्ञापन कोड लगाते हैं गूगल आपको अधिक कमाई देने के लिए आपकी साइट से सम्बंधित विज्ञापन दिखाने लगता है। लेकिन अगर आपको लगता है कि गूगल ऐडसेंस की आमदनी कम है तब आप विज्ञापनों को ऑप्टिमाइज़ कर सकते हैं। 

    गूगल ऐडसेंस का सीपीसी ऑप्टिमाइज़ करने के लिए टिप्स
    क्या ये कहना सही है कि गूगल ऐडसेंस से पैसा कमाने के लिए सिर्फ़ अच्छा सीपीसी ही बहुत है? मेरा उत्तर है – नहीं। इसके लिए पेज व्यूज़, सीटीआर, आरपीएम, आपके ब्लॉग का मुख्य विषय और आपके द्वारा चुने गये कीवर्ड भी बहुत महत्व रखते हैं। ये सभी एलिमेंट्स इतना अधिक महत्व रखते हैं कि आप अपने से किसी 10 गुना अधिक वेबट्रैफ़िक वाली साइट से 10 गुना अधिक कमाई कर सकते हैं।

    ऐडसेंस सीपीसी बढ़ाने के तारीक़े
    मैं इस लेख में महज़ ऐडसेंस सीपीसी को ऑप्टिमाइज़ करने के बारे में बताने जा रहा हूँ।

    1. उन ऐडसेंस एडवर्टाइज़र को ब्लॉक कीजिए जिनका सीपीसी कम है
    Block Low CPC Paying Advertisers





    गूगल ऐडसेंस नेटवर्क से सभी प्रकार के एडवर्टाज़र जुड़े हैं जिसमें कुछ कम ऐडसेंस सीपीसी देते हैं तो कुछ अधिक सीपीसी देते हैं। ऐडसेंस आपकी साइट की क्वालिटी के आधार पर विज्ञापन दिखाता है। इसलिए यदि आप कम सीपीसी रखने वाले एडवर्टाइज़र्स को हटा दें तो आपकी आमदनी बढ़ने की सम्भावना अधिक हो जाती है। इसके लिए ऐडसेंस आपको ऐड फ़िल्टर टूल उपलब्ध कराता है।

    2. सही स्थान पर विज्ञापन लगायें
    Place Ad Units at Right Location

    अगर आप सोच रहे हैं कि ब्लॉग पर कहीं भी विज्ञापन लगा देने से आप कमा लेंगे तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। गूगल बॉट बड़ा चालाक होता है वो आपके ब्लॉग के सिर्फ़ उन्हीं स्थानों पर अच्छे विज्ञापन दिखाता है जहाँ एडवर्टाइज़र दिखाना चाहते हैं। जहाँ आपका सबसे अधिक दिखे और ब्लॉग रीडर्स की आँखों से सामने पड़े। ऐसे स्थान पर अधिक सीपीसी वाले विज्ञापन गूगल ऐडसेंस बॉट ख़ुद दिखाता है।

    3. हीटमैप का प्रयोग कीजिए
    Use AdSense Heatmap




    गूगल ऐडसेंस टीम ने ऐडसेंस हीटमैप जारी किया है जिससे आप अपने ब्लॉग पर उन जगहों पर विज्ञापन लगा सकते हैं जहाँ विज्ञापन लगाने पर एडवर्टाइज़र अपना विज्ञापन करना चाहते हैं और अधिक ऐडसेंस सीपीसी देना चाहते हैं। आगे ऐडसेंस हीटमैप दिया गया है इसमें लाल रंग सबसे अधिक सीपीसी, नारंगी उससे कम सीपीसी और हल्का पीला सबसे कम सीपीसी देने वाली जगहें हैं।


    4. विज्ञापन का सही आकार चुनें
    Ad Unit Size Matters

    ये सच है कि सभी प्रकार के ऐड साइज़ आपको अधिक कमाई नहीं दे सकते हैं। अधिक ऐडसेंस सीपीसी सिर्फ कुछ निश्चित आकार या बड़े आकार के विज्ञापनों के साथ ही मिलता है। अधिक सीपीसी प्राप्त करने के लिए आप 300×250, 336×280, 300×600, 300×100, 720×90, 160×600 या रिसपांसिव विज्ञापन लगा सकते हैं।

    5. विज्ञापन का टाइप

    Ad Unit Type

    आपको सिर्फ़ इमेज ऐड दिखाकर अधिक ऐडसेंस सीपीसी पाने की सलाह मानने की बजाय गूगल ऐडसेंस में डिफ़ॉल्ट टेक्स्ट और इमेज-बेस्ड ऐड दिखाना चाहिए क्योंकि इससे एडवर्टाइज़र के बीच सीपीसी को लेकर कॉम्प्टिशन बढ़ेगा और आपको अधिक से अधिक सीपीसी मिलने लगेगा।




    6. कस्टम चैनल प्रयोग कीजिए
    Use Custom Channel to Increase Competition among Advertisers

    कस्टम ऐड चैनेल का प्रयोग करके आप अपनी साइट पर एडवर्टाज़र्स को निश्चित स्थानों या पेजों पर विज्ञापन दिखाने के लिए आकर्षित कर सकते हैं। आप जब भी नयी ऐड यूनिट बनाये तो उसके एक कस्टम चैनल अवश्य रखें ताकि एडवर्टाज़र की आपके ब्लॉग पर किसी निश्चित स्थान या पेज पर विज्ञापन दिखाने में रुचि बढ़े और किसी चैनेल या फिर सभी चैनेल के लिए आपको बढ़िया सीपीसी दे।

    7. ऐड यूनिट की संख्या
    Don’t Place more than 3 Ad Units


    बहुत से लोग मानते हैं कि ऐडसेंस की अधिक यूनिट लगा लेने से विज्ञापन पर क्लिक होने के चांसेज अधिक हो जाते हैं लेकिन ऐसा नहीं है। आपको पहले जानना चाहिए कि गूगल की पॉलिसी के हिसाब से 3 से अधिक यूनिट ब्लॉग पर प्रयोग करने पर आपका ऐडसेंस खाताखाता बंद हो सकता है। सिर्फ़ इतना ही नहीं इससे आपको मिलने वाला सीपीसी भी घट जाता है। आपके ब्लॉग के ऊपरी भाग में लगा विज्ञापन निचले भाग पर लगे विज्ञापन की तुलना में कहीं अधिक सीपीसी देता है। अगर आप तीन की जगह सही स्थान पर 2 ऐड यूनिट लगायें तो आपको और अधिक ऐडसेंस सीपीसी भी मिल सकता है।

    8. ब्लॉग की क्वालिटी बढ़ायें
    Improve Blog Quality




    ज़्यादा ऐडसेंस सीपीसी पाने के लिए ज़रूरी है कि आप –

    ब्लॉग पर अच्छे लेख व अन्य ओरिज़नल कंटेंट प्रकाशित करें
    पोस्ट में ज़्यादा सीपीसी देने वाले कीवर्ड प्रयोग करें
    अच्छी साइटों से अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक प्राप्त करें
    एसईओ के नये ट्रेंड अपनाएँ और गूगल क्वालिटी स्तर का ध्यान रखें
    ब्लॉग की पेज ऑथारिटी और डोमेन ऑथारिटी बढ़ाने का प्रयास करें
    ज़्यादा से ज़्यादा पेज रैंक प्राप्त करने की कोशिश करते रहें
    यदि आप इन सभी बातों पर ध्यान देने लगें तो आपको अच्छा ऐडसेंस सीपीसी मिलने लगेगा।

    9. ऑरगैनिक ट्रैफ़िक बढ़ायें
    Target more Organic Traffic

    जानिए – ऑरगैनिक ट्रैफिक क्या है?

    आपको सबसे पहले पता लगाना होगा कि आप जिस विषय पर ब्लॉग लिख रहे हैं उसे सबसे अधिक देश या स्थान पर पढ़ा जाता है और कहाँ से आपको अधिक ऐडसेंस सीपीसी मिल सकता है। आपको ज़्यादा सीपीसी देने वाले देशों में अपने ब्लॉग को प्रोमोट करना चाहिए। अगर सर्च इंजन से रीडर सीधे ब्लॉग पर आ रहा हो तो साइट पर दिखने वाले विज्ञापन पर अधिक सीपीसी मिलता है। इसलिए आपको इन बातों का पूरा ध्यान रखना होगा।

    10. ऐडसेंस एक्सपेरिमेंट प्रयोग करें
    Create and Run AdSense Experiments

    गूगल एक्सपेरिमेंट का प्रयोग अवश्य करें। यह आपको यह जानने में मदद करेगा कि आप जिस तरह से अभी विज्ञापन प्रयोग कर रहे हैं वह सही है या फिर गूगल आपको सुझाएगा कि आपको किस प्रकार से विज्ञापन प्रयोग करने चाहिए? कुछ हफ़्ते एक एक्सपेरिमेंट चलने के बाद गूगल आपको स्वत: बता देता है कि आपके ब्लॉग पर किस प्रकार के विज्ञापन होने होने चाहिए ताकि अधिक सीपीसी मिल सके।




    No comments