Header Ads

  • Latest Post

    क्या है AIPMT? कैसे करे AIPMT (All India Pre Medical ) के प्रवेश परीछा की तैयारी।



    कैसे करें ए आई पी एम टी (AIPMT) प्रवेश परीक्षा की तैयारी ?


    क्या है AIPMT ?




    AIPMT ऑल इंडिया प्री मेडिकल (All India Pre Medical) के नाम से जाना जाता है। AIPMT हर वर्ष CBSE द्वारा आयोजित किया जाता है। 12वीं कक्षा के सभी विद्यार्थी जोकि physics,chemistry,biology पढ़ रहे हैं वे सब ऑल इंडिया प्री मेडिकल(All India Pre Medical)/प्री डेंटल टेस्ट (Pre Dental Test) AIPMT के लिए आवेदन कर सकते हैं। AIPMT के बारे में बहुत से चीजें हैं, जो आपको पता होनी चाहिए। जैसे कि AIPMT की तैयारी को 12वीं की पढ़ाई के साथ कैसे करें। किस परीक्षा के लिए तैयारी या आवेदन करें और कैसे करें।

    योग्यताएं(Elegibility Criteria):-


    (I) एआईपीएमटी 15 प्रतिशत ऑल इंडिया कोटा के लिए।

    आयु सीमा:


    न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष (प्रवेश के एक साल बाद 31 दिसंबर तक वह अपनी आयु पूरी कर चुका हो। )
    अधिकतम आयु सीमा 25 वर्ष (यह अधिकतम आयु सीमा की छूट उन विद्यार्थियों के लिए जो अन्य पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति)

    आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर के उम्मीदवार:


    आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर राज्यों के विद्यार्थी 15 प्रतिशत ऑल इंडिया कोटा के योग्य नहीं है। कयोंकि इन राज्यों ने एआईपीएमटी(AIPMT) की स्थापना के समय इस योजना के बाहर का विकल्प चुना था। अगर वे योग्यता का दावा करते हैं तो उन्हें प्रफोर्मा के अनुसार प्रमाण पत्र, गैरकानूनी स्टाम पेपर दस रुपए प्रति स्टाम के रूप में देना पड़ेगा, जो स्थानीय जजों के या प्रथम श्रेणी के जज द्वारा प्रमाणित किया गया हो, जिसमें लिखा होगा कि :

    1. वे आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर राज्यों के मेडिकल कॉलजों के एमबीबीएस(MBBS)/बीडीएस(BDS) की सीटों को पाने के लिए योग्य नहीं है।

    2. वे आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और जम्मू-कश्मीर में अधिवासित नहीं है।

     (II) भाग लेने वाले राज्यों/विश्वविद्यालयों/संस्थानों और एएफएमसी के नियंत्रण के तहत सीटें

    आयु सीमा:


    न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष (प्रवेश के एक साल बाद 31 दिसंबर तक वह अपनी आयु पूरी कर चुका हो)
    अधिकतम आयु सीमा: राज्यों/विश्वविद्यालयों में भाग लेने के लिए नियंत्रण के तहत एमबीबीएस/बीडीएस की सीटों में प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए ऊपरी आयु सीमा/संस्थानों/राज्य/ विश्वविद्यालय/संस्थान में चिंतित के नियमों के अनुसार होगी।
    जम्मू-कश्मीर, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के राज्यों के विद्यार्थी एएफएमसी पुणे में प्रवेश लेने के लिए एआईपीएमटी में प्रवेश ले सकते हैं।




    (III) प्रतिशत मापदंड (percentage criteria):

    1) उम्मीदवार के फिजिकस, कैमिस्ट्री, बायोलॉजी में न्यूनतम 50 प्रतिशत अंक होने चाहिए। (सामान्य वर्ग के लिए)

    2) अन्य वर्ग के उम्मीदवारों के लिए फिजिकस, कैमिस्ट्री में 40 प्रतिशत अंक होने चाहिए।

    3) इसके अलावा अक्षमों (विकलांग )के लिए 45 प्रतिशत अंक, एससी-पीएच/एसटी-पीएच/ ओबीसी-पीएच के लिए 40 प्रतिशत अंक जरूरी है।

    (IV) एआईपीएमटी परीक्षा प्रारूप(paper pattern):

    1) AIPMT की परीक्षा 3 घंटों की है और यह ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाती है।

    2) पेपर में 180 सवाल होते हैं।

    3) प्रत्येक प्रश्न चार अंक का होता है, हर गलत उत्तर के लिए एक अंक काटा जाता है।

    4) 45 प्रश्न फिजिकस से, 45 कामेस्ट्री से और 90 प्रश्न बायोलॉजी (बॉटनी+ज्युलॉजी) से पूछे जाते हैं।

    तैयारी के लिए सुझाव(Preparation Tips):


    1) उम्मीदवार को परीक्षा के प्रारूप के बारे में पता होना चाहिए कि वह सही दिशा में तैयारी कर सकें।

    2) मौलिक विषय जैसे कि बायोलॉजी, कैमिस्ट्री और फिजिकस अपने कौशल को मजबूत बनाए।

    3) सबसे पहले अपनी एनसीआईआरटी की किताबों की पढ़ाई पूरी करें। वह आपका आधार बनाने में मदद करेंगी। 11वीं और 12वीं के पूरे एनसीआरटी पाठयक्रम को पूरा करने का प्रयास करें।




    4) पिछले वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करने का प्रयास करें। इससे आपकों एआईपीमएटी में आने वाले प्रश्नों के बारे में जरूरी जानकारी मिल जाती है।

    5) सभी विषयों में समान रूप से अपना समय व्यतीत करने की कोशिश करें। एक ही विषय पर अपना ध्यान केंद्रित न करें। एक समयसीमा निर्धारित कर लें और सभी विषयों को उसी सीमा के अंदर पूरा करने की कोशिश करें।

    6) सभी विषयों में समान रूप से अपना समय विभाजित करने की कोशिश करें। एक ही विषय पर अपना ध्यान केंद्रीत न करें, एक व्यवस्थित ढंग से सभी विषयों को तैयार करने का प्रयास करें। एक समय सीमा निधारित कर लें और सभी विषयों को उस समय से पहले पूरा करने की कोशिश करें।

    7) एक बार अगर आप 100 प्रश्नों को एक दिन में हल करने का लक्ष्य पूरा कर लें, तो प्रश्नों की सीमा को 150 तक बढ़ा दें और फिर 200, और इसी तरह प्रतिदिन प्रश्नों की संख्या बढ़ाते रहें।

    8) Practice test, mock test और पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को तब तक हल करते रहें जब तक उसके सभी प्रश्नों के सही उत्तर न दे दें। आप कहाँ गलती कर रहे हैं उस पर ध्यान दें और अगली बार उसे सुधारने की कोशिश करें।

    9) अपने लिए शॉर्ट नोट्स तैयार कर लें, यह आपको तैयारी के अंतिम क्षणों में मदद करेंगे।

    10) अपने दोस्तों, अध्यापकों, ट्यूटर्स के साथ अपने संदेह पर चर्चा कर सकते हैं। दोस्तों के साथ चर्चा करना बहुत आसान है वो हमें जल्दी समझा सकते हैं।

    11) अगर प्रश्न पत्र आपकी उम्मीद के अनुसार न निकले, तो हिम्मत न छोड़ें। अपना पूरा ध्यान एकाग्रता के साथ प्रश्नपत्र पर लगाएं।

    12) आपको विश्वास बनाना होगा कि आप इस काम को हमेशा संभव कर सकते हैं, कयोंकि मेहनत ही सफलता की कुंजी है, आप सफलता के मूल सिद्धांतों को समझने और नियमित अभ्यास करने में सक्षम है।

    13) सकारात्मक सोचें, सकारात्मक बनें और सकारात्मक प्राप्त करें। सब कुछ सकारात्मक आपको सकारात्मक बनाता है। सकारात्मक उत्थान और पे्ररित विचार के साथ अपने मन को भरें और आप सफलता की प्रचूर मात्रा में सफल होंगे। सकारात्मक सोच में जादूई असर होता है जो आपके व्यवसाय में सफल होने में मदद करता है।



    No comments