• Latest Post

    कैसे करे MBBS में प्रवेश। कैसे करे AIIMS की प्रवेश परीछा कि तयारी।






    कैसे करें एम्स (AIIMS) की प्रवेश परीक्षा की तैयारी ?


    क्या है एम्स(AIIMS)?


    AIIMS का पूरा नाम है All India Institute of Medical Science. जो विद्यार्थी एम. बी. बी. एस. (MBBS) में प्रवेश लेना चाहते हैं एम्स (AIIMS) उनके लिए प्रवेश परीक्षा आयोजित करता है। MBBS प्रवेश परीक्षा हर साल AIIMS, New Delhi द्वारा आयोजित की जाती हैं। AIIMS MBBS प्रवेश परीक्षा विद्यार्थियों को चिकित्सा के विभिन्न क्षेत्रों में शिक्षा प्रदान कराती है।

    एम्स (AIIMS) प्रवेश परीक्षा की प्रमुख तिथियां :


    1. ओन लाइन रजिस्ट्रेशन www.aiimsexams.org पर फ़रबरी (february) के महीने में किया जाता है ।

    2. आवेदन करने की अंतिम तिथि मार्च (March) के महीने में होती है ।

    3. ये परीक्षा जून (June) के महीने में होती है ।

    4. परीक्षा का परिणाम जुलाई (July) माह में निकलता है।




    परीक्षा में बैठने के लिए योग्ताएं (Elegibility Criteria):

    1. प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन करने वाला उम्मीदवार 10+2 पास होना चाहिए और physics, chemistry, biology में 60% अंक होने चाहिए।

    2. अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए 50% अंक होने चाहिए।

    एम्स परीक्षा का स्वरूप (Paper Pattern):

    1. एम्स की परीक्षा तीन घंटे तीस मिनट (3:30) की है और यह आफलाइन मोड में आयोजित की जाती है।

    2. परीक्षा में 200 प्रसन पूछे जाते हैं।

    3. प्रत्येक सही उत्तर के लिए एक अंक दिया जाता है। तीन गलत उत्तरों के लिए एक अंक काट दिया जाता है।

    SUBJECT                  NO. OF QUESTIONS               DURATION

    PHYSICS                                    60
    CHEMISTRY                             60
    BIOLOGY                                  60
    GENERAL KNOWLEDGE     20
    TOTAL                                      200                                 3 ½ hours


    तैयारी के लिए सुझाव (preparation tips):



    • उम्मीदवारों को परीक्षा के स्वरूप के बारे में पूरी तरह से पता होना चाहिए, ताकि वो सही दिशा में तैयारी कर सकें।
    •  मौलिक विषय जैसे कि Physics, Chemistry और Biology में अपने कौशल को मजबूत बनाएं।
    •  गलत उत्तर या एक से अधिक उत्तर देने पर नाकारात्मक अंक प्राप्त होंगे।
    •  उम्मीदवारों को सभी दिए गए विषयों में 10+2 के आधार पर तैयारी करनी चाहिए।
    •  अधिक से अधिक प्रश्नों को घर पर हल करना सफलता की तरफ पहला कदम है, हमें पिछले वर्षों के प्रश्नों को हल करने की कोशिश करनी चाहिए। यह विद्यार्थियों को परीक्षा के दौरान समय का पूरा उपयोग करने में मदद करता है।
    •  सभी विषयों में समान रूप से अपना समय विभाजित करने की कोशिश करें। एक ही विषय पर अपना ध्यान केंद्रीत न करें, एक व्यवस्थित ढंग से सभी विषयों को तैयार करने का प्रयास करें। एक समय सीमा निधारित कर लें और सभी विषयों को उस समय से पहले पूरा करने की कोशिश करें।
    • एक बार अगर आप 100 प्रश्नों को एक दिन में हल करने का लक्ष्य पूरा कर लें, तो प्रश्नों की सीमा को 150 तक बढ़ा दें और फिर 200, और इसी तरह प्रतिदिन प्रश्नों की संख्या बढ़ाते रहें।
    •  Practice test, mock test और पिछले सालों के प्रश्न पत्रों को तब तक हल करते रहें जब तक उसके सभी प्रश्नों के सही उत्तर न दे दें। आप कहाँ गलती कर रहे हैं उस पर ध्यान दें और अगली बार उसे सुधारने की कोशिश करें।
    •  अपने लिए शॉर्ट नोट्स तैयार कर लें, यह आपको तैयारी के अंतिम क्षणों में मदद करेंगे।
    • अपने दोस्तों, अध्यापकों, ट्यूटर्स के साथ अपने संदेह पर चर्चा कर सकते हैं। दोस्तों के साथ चर्चा करना बहुत आसान है वो हमें जल्दी समझा सकते हैं।
    •  अगर प्रश्न पत्र आपकी उम्मीद के अनुसार न निकले, तो हिम्मत न छोड़ें। अपना पूरा ध्यान एकाग्रता के साथ प्रश्नपत्र पर लगाएं।
    •  आपको विश्वास बनाना होगा कि आप इस काम को हमेशा संभव कर सकते हैं, कयोंकि मेहनत ही सफलता की कुंजी है, आप सफलता के मूल सिद्धांतों को समझने और नियमित अभ्यास करने में सक्षम है।
    •  सकारात्मक सोचें, सकारात्मक बनें और सकारात्मक प्राप्त करें। सब कुछ सकारात्मक आपको सकारात्मक बनाता है। सकारात्मक उत्थान और पे्ररित विचार के साथ अपने मन को भरें और आप सफलता की प्रचूर मात्रा में सफल होंगे। सकारात्मक सोच में जादूई असर होता है जो आपके व्यवसाय में सफल होने में मदद करता है।



    No comments